वैज्ञानिकों का दावा- इंसानों की वजह से पैदा हुआ कोरोना वायरस, आगे और भी है खतरा!

0
2507

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (Covid-19) ने पूरी दुनिया में तबाही मचा रखी है। 85 हजार से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। वहीं 14 लाख से अधिक लोग इस बीमारी से जूझ रहे हैं। लेकिन इन सब के बीच एक खुलासा हुआ है कि कोरोना वायरस फैलने की वजह खुद इंसान हैं।

कोरोना: रिपोर्ट में हुआ खुलासा, भारत में हुई 86% मौतों में कॉमन है एक बात जानवरों से इंसानों में जानलेवा कोरोना वायरस कैसे पहुंचा, इसे पता करने की कोशिश जारी है। वैज्ञानिकों ने एक थ्योरी बनाई है जिसके मुताबिक चीन के किसी इलाक़े में एक चमगादड़ ने आकाश में मंडराते हुए अपने लीद के ज़रिए कोरोना वायरस का अवशेष छोड़ा जो जंगल में ज़मीन पर गिरा। इसके बाद किसी जंगली जानवर ने इसे सूंघा या खाया और उसके बाद ये दूसरे जानवरों में फैल गया। इन्हीं जानवरों के संपर्क में कोई इंसान आया और फिर वे उस में पहुंच गई। वैज्ञानिकों ने इस बात की भी संभावना जताई गई है कि कोरोना वन्य जीवों के साथ मनुष्यों के ज्यादा संपर्क बढ़ने की वजह से फैली है। उनके मुताबिक कि शिकार, खेती और बड़ी संख्या में लोगों के शहरों की तरफ पलायन की वजह से जैव-विविधता में बड़े पैमाने पर कम हो गई। जिसके कारण जंगली जीव सिधे इंसानों के संपर्क में आ गए और Covid-19 जैसे वायरस का खतरा बढ़ा। दुनिया का सबसे महंगा ‘कीड़ा’, बिकता है 10 लाख रुपये किलो! अमेरिका के वैज्ञानिकों ने बताया कि कई सालों से 142 वायरस जानवरों से मनुष्यों में फैल रहे हैं। गाय, भेड़, कुत्ते और बकरियों जैसे पालतू जानवरों से मनुष्यों में सबसे अधिक वायरस जाते हैं।

वहीं चूहे, गिलहरी, चमगादड़ और सभी स्तनधारी जीव भी इंसानों में आसानी से वायरस फैला सकते हैं। वैज्ञानिकों ने बताया सार्स, निपाह, मारबर्ग और इबोला जैसी बीमारियां अकेले चमगादड़ों से ही फैल गई थीं। लॉकडाउन: शख्स ने घर में ही बना दिया पहाड़, वीडियो देख दंग रह जाएंगे आप बता दें लंदन की रॉयल सोसाइटी बी की पत्रिका में इस विषय पर एक लेख भी छपा है। जिसमें बताया गया है कि संक्रामक रोग सबसे ज्यादा उन जानवरों से फैलता है जिनकी संख्या जंगलों के काट दिए जाने की वजह से कम हो गई। इस लेख में ये भी बताया गया है कि अगर ऐसे ही जंगली जानवर, इंसानों के संपर्क में आएंगे तो कोरोना जैसे और भी वायरस का सामना कर पड़ सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here